Top 10 similar words or synonyms for lightning

bicycle    0.957006

starter    0.945700

finds    0.942676

nitrile    0.941879

memristor    0.941476

maga    0.941318

kits    0.941272

simula    0.941204

nikola    0.941106

bale    0.940763

Top 30 analogous words or synonyms for lightning

Article Example
तड़ितझंझा इसे विद्युत तूफान ("electrical storm"), चमकयुक्त तूफान ("lightning storm") आदि भी कहते हैं। चूंकि इस तूफान में अत्यधिक बिजली चमकती और गिरती है, इस कारण इसे बिजली युक्त तूफान कहते हैं।
तड़ित तड़ित (Lightning) या "आकाशीय बिजली" वायुमण्डल में विद्युत आवेश का डिस्चार्ज होना (एक वस्तु से दूसरी पर स्थानान्तरण) और उससे उत्पन्न कड़कड़ाहट (thunder) को तड़ित कहते हैं। संसार में प्रतिवर्ष लगभग १ करोड़ ६० लाख तड़ित पैदा होते हैं।
तड़ित रोधक तड़ित रोधक (lightning arrester या surge arrester) विद्युत शक्ति प्रणाली तथा दूरसंचार प्रणाली में प्रयुक्त एक सुरक्षा युक्ति है जो तड़ित से होने वाली इंसुलेशन की सम्भावित क्षति के विरुद्ध कार्य करती है। सामान्य तड़ित रोधक में एक उच्च-वोल्टता वाला टर्मिनल तथा दूसरा भू-टर्मिनल होता है। जब तड़ित किसी पॉवर लाइन से होकर चलते हुए तड़ित रोधक तक पहुंम्चती है तो तड़ित की धारा रोधक से होते हुए धरती में चली जाती है।
प्राकृतिक आपदा [[जंगल की आग]] (Wildfire) एक ऐसी अनियंत्रित आग को कहते हैं जो [[वन प्रदेश|वन्य प्रदेश]] (wildland) को जला देती है। इसके सामान्य कारण तो हैं [[बिजली|बिजली गिरना]] (lightning) और [[सूखा]] (drought) परन्तु इसे मानव की लापरवाही और [[आगजनी]] (arson) द्वारा भी शुरू किया जा सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों और [[वन्य जीवन]] (wildlife) के लिए ये खतरा उत्पन्न करती हैं।
विद्युतशक्ति का प्रेषण प्रेषण लाइनों के अभिकल्प में तड़ित् संरक्षण का प्रावधान करना भी अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। तड़ित् लाइन पर गिरकर उसे तथा उससे संयोजित सभी साजसज्जा को नष्ट कर सकती है। इससे बचाव के लिए बहुत सी युक्तियाँ प्रयुक्त की जाती है, जिनमें मुख्यत: भूमि तार तथा तड़ितनिरोधक (lightning arrestors) का प्रावधान है। भूमि तार सामान्य रूप से लाइन को तड़ित् के हानिकारक प्रभावों से बचाता है और तड़ित् को लाइन पर यथासंभव गिरने से रोकता है। तड़ितनिरोधक उपकेंद्र अथवा अंत संरचनाओं पर लगाए जाते हैं और तड़ित् के लाइन पर गिर जाने पर उस सीधे ही भूयोजित (earthed) कर देते हैं, जिससे लाइन अथवा साजसज्जा को क्षति नहीं पहुँचने पाती। सभी मीनार ठीक से भूयोजित होते हैं और उनका भूमिरोध विविध प्रकार की व्यवस्थाएँ करके अत्यंत कम रखा जाता है। तड़ित्संरक्षण के दृष्टिकोण से अधिक वर्ग के अचालकों का भी प्रयोग करना पड़ता है, परंतु आजकल तड़ितनिरोधक पर शोध के फलस्वरूप अचालक का स्तर ऊँचा रखने की आवश्यकता नहीं रहती।
तड़ित भवनों को तड़ित के सीधे आघात से बचाने के लिये बेंजामिन फ्रैंकलिन द्वारा विकसित तड़ित दंड (Lightning rod) व्यवस्था सर्वाधिक श्रेष्ठ है। लोहे का एक छड़, जिसका ऊपरी सिरा भाले की भाँति नुकीला होता है और भवन के काफी ऊपर तक निकला रहता है, भवन के पार्श्व से होता हुआ भूमि के अंदर काफी गहराई तक गड़ा रहता है। निचला सिरा भूमि में ताँबे की एक पट्टिका में लगा होता है। यह तड़ित दंड बादल में विद्यमान तड़ित के लिए न्यूनतम प्रतिरोध का मार्ग ही नहीं प्रशस्त करता, प्रत्युत यह भवन पर उत्पन्न प्रेरित विद्युदावेशों को तत्काल पृथ्वी के अंदर पहुँचा देता है। इस प्रकार यह बादलों और भवन के बीच आवेशों के पारस्परिक आकर्षण की संभावना भी पर्याप्त घटा देता है। अतीत से ही विद्युत्‌ झंझाओं के दिनों में, नाविक अपने जलयानोंके मस्तूलों से इस प्रकार बादलों के विद्युत्‌ का क्षरण देखते चले आ रहे हैं। यह क्षरण रात को अधिक स्पष्ट दिखलाई पड़ता है। इसे यूरोपीय नाविक संत एल्मो की अग्नि (St. Elmo's Fire) कहते हैं।
एनीमेशन दस्त चित्रकला को अभिग्रहण करने के शुरूआती प्रयास paleolithic ()गुफा चित्रकला () में पाया जा सकता है जहाँ पशु अनेक टांगों के साथ उपरिशायी मुद्राओं मेंगति की धारणा संप्रेषित करने के प्रयास में दर्शाए गयी हैं फेनाकिस्तोस्कोप (), जोईट्रोप () और प्राक्सिनोस्कोप () एवं फ्लिप पुस्तक () १८०० की सदी के शुरूआती लोकप्रिय एनीमेशन उपकरण थे यह उपकरण अनुक्रमिक चित्रों से तकनीकी मध्यम के द्वारा हरकत पेश करते थे, लेकिन एनीमेशन ने बहुत देर तक आगे कोई तरक्की नहीं की जब तक चलचित्र फिल्मों का आगमन नही हुआ किसी एक व्यक्ति को एनीमेशन का जन्मदाता नहीं कहा जा सकता क्योंकि लगभग एक वक्त पर ही अन्य लोग कई परियोजनाओं में व्यस्त थे जिन को एनीमेशन के अलग प्रकार माना जा सकता है गेओर्गेस मेलिस () स्पेशल एफ्फेक्ट्स (विशेष-प्रभाव) फिल्मों के जन्मदाता थे; वह सामान्यतः इस तकनीक से एनीमेशन का उपयोग करने वाले पहले व्यक्ति थे उनहोंने दुर्घटना द्वारा एक तकनीक की खोज की जो थी कैमरा को रोक देना दृश्य में कुछ बदलावों के लिए और फिर से उसे रोल कर देना यह विचार बाद में स्टाप मोशन एनीमेशन के नाम से प्रचलित हुई मालिस नें दुर्घटना द्वारा इस तकनीक की खोज की जब एक चलती बस को शूट करते हुए उन का कैमरा ख़राब हो गया जब कैमरा ठीक हुआ, जैसे ही मालिस ने कैमरा रोल किया, मुर्दा ले जाने की गाड़ी गुज़र रही थी और पर्निनाम स्वरुप बस मुर्दा ले जाने की गाड़ी में बदल गई प्रारम्भिक वर्षों के यह केवल एक महान योगदानकरता थे जे . स्टुअर्ट ब्लेआक्त्न () संभवतः स्टाप मोशन और हस्त चित्रित तकनीकों द्बारा एनीमेशन के पहले अमरीकी फिल्म निर्माता थे इन को एडीसन () द्वारा फिल्म निर्माण का परिचय मिला और इनहोंने इन अवधारणाओं को 20 वीं सदी के मोड़ पर अपने १९०० दिनांकित पहले कोप्य्रिघ्त किए कार्य से मार्ग दर्शन दिया उन की कई फिल्में जिस में "The Enchanted ड्राइंग (मंत्रमुग्ध रेखाचित्र) ()" (सं १९००) और " Humorous Phases of Funny Faces (मजेदार चरण के विनोदी चेहरे) ()" (सं १९०६) शामिल हैं, ब्लएक्त्न के "lightning artist" नेमका के फिल्मी रूपांतरण थे, जिन्होंने मेलिस के प्रारम्भिक स्टाप मोशन तकनीक के बदले रूप की तकनीक का उपयोग किया श्यामपट्ट () चित्रकला में हरकत दिखाने और उन्हें अपने रूप बदलते दर्शाने के लिए हुमोरोउस फेअजेज़ ऑफ़ फनी फसिस (मजेदार चेहरे के विनोदी चरण) नियमित रूप से पहली असल अनुप्राणित फिल्म के रूप में उद्धृत है और ब्लएक्त्न पहले सच्चे एनीमेशन कारक () माने जाते हैं एक अन्य फ्रांसीसी कलाकार, Emile कोहल () नें कार्टून चित्र टुकड़े चित्रित करने शुरू किए और सं १९०८ में फंतास्मागोरी नामक एक फ़िल्म बनाई इस फ़िल्म में छड़ी आकार () को इधर उधर हिलते हुए दर्शाया गया, जिस ने रूप बदलती वस्तुओं का सामना किया जैसे वाईन (शराब) की बोतल जो फूल में रूपांतरित हो जाती है इस में जीवित क्रिया के भे भाग थे जिस में एनीमेशन कारक के हाथ दृश्य में प्रवेश करते हैं हर एक फ्रेम को कागज़ पर चित्रित कर इंकारी फ़िल्म () पर शूट किया गया जिस कारणवश चित्र को श्यामपट्ट रूप मिला यह फंतास्मागोरी को पहली अनुप्राणित फ़िल्म बनाता है जिस की रचना बाद में चल कर परंपरागत (हस्त चित्रित) एनीमेशन () कहलाने वाली प्रणाली से बनी ब्लाक्क्तों और कोल की सफलता के बाद, कई कलाकारों ने एनीमेशन के साथ प्रयोग शुरू किए ऐसे ही एक कलाकार थे विनसर मक के (), एक समाचारपत्र कार्टूनिस्ट जिन्होंने विस्तृत एनिमेशन निर्मित किए, जिस के लिए कलाकारों की पूरी मण्डली और श्रमसाध्य ध्यान की आवश्यकता थी प्रत्येक फ्रेम कागज पर तैयार किया गया, जिस के सदा ही पृष्ठभूमि और पात्रों के पुनार्चित्रण और एनीमेशन की आवश्यकता पड़ी मक के की सब से नामी फिल्में हैं "Little Nemo ()" (सं १९११), "Gertie the Dinosaur ()" (सं १९१४) and "The Sinking of the Lusitania ()" (सं १९१८).